राजस्थान एनआरएचएम यूनियन वेबसाइट में आपका हृदयपूर्वक स्वागत हैं

email id - nrhm.rajasthan.union@gmail.com

राजस्थान एनआरएचएम नर्सेज एसोसिएशन

 
 

 

''Mamtamai Maa Kaali ki Jai"/ " Hare kei sahare ki jai"  / "Khatu wale Naresh ki jai'' 

इस वेबसाइट में लोगों की निरीक्षण संख्या  

''द्वेष ईर्ष्या व क्रोध  से ग्रसित व्यक्ति अफवाह को जन्म देते है, कुन्ठित-बुद्धिहीन व्यक्ति उसको फैलाते है और मुर्ख उसे सत्य मान लेते है'' 

'' जुल्म सहने वाला जुल्म करने वाले से ज्यादा बड़ा गुन्हागार है, क्योकि खामोशी से जुल्म सह कर वो गुन्हागार के हौसले और भी बुलन्द करता है ,जिससे प्रेरित हो गुन्हागार और भी बडे और भी घिनौने जुल्म करता है ''

''सम्विधा प्रथा केन्सर के समान एक गंभीर प्रशासनिक बीमारी है , जो आज भी आधुनिक भारत मे इन्सानो को गुलाम बनाने की घिनौनी पद्ध्ति है'' 

दिनांक 14/02/2015 :- 16 फरवरी का जयपुर मीटिंग रद्द।

दिनांक 16 फरवरी को जयपुर जा कर स्वास्थ्य मंत्री जी व भर्ती से सम्बंधित अधिकारियो से मिलने का जो कार्यक्रम तय किया गया था उपयुक्त समय के लिए निरस्त करना पड रहा हैं।

कारण -
प्रधान मन्त्री जी दिनांक 20 फरवरी को सूरतगढ़ का दौरा करने वाले हैं जिस कारण स्वास्थ्य मन्त्री जी ने दिनांक 20 फरवरी को मोदी जी के दौरे तक सूरतगढ़ में ही रहने का कार्यक्रम निर्धारित किया हैं जिस कारण वे दिनांक 20 फरवरी तक जयपुर में मुलाक़ात हेतु उपलब्ध नहीं हो पाएंगे।
स्वास्थ्य मंत्री जी की अनुपस्थिति में इतनी संख्या में लोगो को जयपुर बुलाने का कष्ट देने का कोई ओचित्य नहीं रहेगा।

नयी रणनीति - 
बदली हुई परिस्थितियों में हमें भी अपनी रणनीति को बदलना होगा। दिनांक 16 फरवरी को हमारा एक प्रतिनिधि दल भर्ती से सम्बंधित समस्त अधिकारियो से मिल कर भर्ती प्रक्रिया, वित्त विभाग की प्रक्रिया और मेरिट लिस्ट जारी करने हेतु गठित की गयी टीम के क्रिया कलाप की प्रगति की जानकारी लेगा।
इसके अतिरिक्त यदि 20 फरवरी तक किसी भी कारण से स्वास्थ्य मंत्री जी का जयपुर आना होता हैं तो हमारा प्रतिनिधि दल अभिनीत भारद्वाज जी व सीताराम जी के नेतृत्व में उनसे मुलाकात करेगा।

स्वास्थ्य मंत्री जी की जयपुर में उपलब्धता को सुनिश्चित करते हुए जयपुर कूच करने की तिथि सार्वजानिक कर दी जाएगी तब तक के लिए सभी साथियों से निवेदन हैं की अपना जोश बनाये रखे व भर्ती पूरी कराने के लिए किये जा रहे संघर्ष में अधिक से अधिक लोगो को जोड़ने का प्रयास करते रहे।

दिनांक 13/02/2015 :-  नर्सेज यूनियन का आह्वाहन 

16 फरवरी को पहुचे सारा राजस्थान

7 AM राजेन्द्र राठौर निवास जयपुर

10 AM स्वास्थ भवन जयपुर

इस महा अनुष्ठान में आकर अपनी भागीदारी सुनिष्चित करे।


दिनांक 12/02/2015 :- ***खरी खरी****

दिल्ली के परिपेक्ष में टिप्पणी :- दिल्ली का चुनाव परिणाम आपके सामने है ।

यह स्पस्ट है कि किए हुए वादे अगर पुरे नही होते तो शिक्षित बुद्धिजीवी जनता क्या सबक सिखाती है। उन दलो के लिए यह सबक मान्य है जो आज यह चुनाव जीते है की जनता ने मौका तो दिया है अगर वादा पूरा करते हो तो फिर आओगे वरना 5 साल बाद जाओगे और साथ साथ उन दलो के लिए लिए भी वार्निंग है की किए हुए वादे पुरे करो अथवा सत्ता से बाहर जाओ ।

राजस्थान में स्थिति :–

हम जानते है आज 14 माह हो चुके है सरकार बने पर बीजेपी सरकार का हमको रेगुलर करने का चुनावी वादा पूरा नही हुआ ; साथ साथ भर्ती को निकले 2 साल इसी माह में हो गए है आज 

कारण कौन ?

जिम्मेवार कौन ?

क्या सरकार ........

बिलकुल नही ........

जिम्मेवार है स्वय हम ....

जी हा .... सही सुना 

आप हम सब है जिम्मेवार .....

क्यों है यह नही पूछेंगे .......

कोई भी सरकार कुर्सी पाने के बाद निरंकुश हो जाती है यह कांग्रेस के शाषन काल में भी देखा और आज बीजेपी के शाषन में भी हम देख रहे है। सरकार नींद से जगाएगा कौन ?

आप

और

हम 

जी हा हमको ही जगाना है उनको बार बार लगातार । 

अब सबसे बड़ा सवाल क्या हम लोग स्वय जाग्रत है ?

अगर हा ......

सच मे .....

आँख बंद कर अपने आप से सच पूछ कर देखो एक बार .... जवाब आ गया ....... जिनको जवाब नही मिला

उन दोषारोपण करने वाले , धर बैठ फेसबुक में रॉकेट चलाने वाले, होली दीवाली ही दर्शन देनेवाले "12वी पास

आईएस" को कभी जवाब मिल भी नही सकता  

जिनको सवाल का जवाब मिल गया उनको मेरा सन्देश :-

आज तक हर बार यही देखा गया है यूनियन के प्रतिनिधि जब भी मिनिस्टर व अधिकारी से मिले है तब तब हम एक स्टेप आगे हुए है । मित्रो अगर आप अगर प्रचंड संख्या में जयपुर आते है और यूनियन अध्यक्ष व यूनियन प्रतिनिधियो के साथ अपनी उपस्थिति देते है तो मिनिस्टर व सरकार को यह सन्देश जाता है की यह एक जाग्रत संस्था है जो अगर नाराज जो जाए तो पूरे प्रदेश की स्वास्थ व्यवस्था को हिला सकता है साथ साथ एक प्रचंड वोट बैंक है जो की उनको सत्ता से बाहर फेक सकता है। मात्र आपके आगमन से यूनियन की ताकत एक हजार गुनी हो जाती है।

फिर क्या आप और हम लोगो का शक्ति पदर्शन 16 फरवरी प्रातः 7 बजे को स्वास्थ मंत्री आवास के बाहर 10 बजे स्वास्थ भवन के बाहर दिखेगा।

अब आपको भी यह सोचना होगा की यह गुलामी की जिंदगी कब तक ?

फैसला आपने लेना है ।


 
दिनांक - 08/02/2015 - दिनांक 16/02/2015 : संघर्ष की अगली कड़ी

यूनियन द्वारा भर्ती पूरी कराने हेतु किये जाने वाले अनवरत प्रयासों की अगली कड़ी के रूप में सभी साथीगण सोमवार को दिनांक 16/02/2015 को फिर से जयपुर उपस्थित होंगे।

दिनांक 16/02/2015 को सुबह स्वास्थ्य मंत्री जी श्री राजेंद्र राठौर जी के आवास पर उनसे मुलाक़ात करेंगे। मंत्री जी को उनके बेहतर स्वास्थ्य की मनोकामना करेंगे व वेरिफिकेशन प्रक्रिया समाप्त होने के पश्चात उनसे मिल कर शीघ्र ही भर्ती लिस्ट जारी करवाने का आग्रह करेंगे।

इसके पश्चात भर्ती से सम्बंधित समस्त अधिकारियो से मुलाक़ात कर भर्ती प्रक्रिया की जानकारी ली जाएगी व जल्द ही लिस्ट जारी करवाने हेतु उचित दबाव बनाया जायेगा।

सभी साथियों से निवेदन हैं की फ़ोन पर "भर्ती का क्या चल रहा हैं या भर्ती की कोई न्यूज़" पूछने से बेहतर होगा की सुबह 7 बजे स्वास्थ्य मंत्री जी के सिविल लाइन जयपुर स्थित आवास या सुबह 10 बजे स्वास्थ्य भवन पहुच कर शीघ्र भर्ती पूरी करवाने में अपना सशरीर योगदान दे।

ए एन एम बहनों से विशेष अनुग्रह - जैसा की आपको जानकारी होगी आपकी भर्ती में सिवाय आपकी उदासीनता के और कोई बाधा नहीं हैं अतः अपना आलस्य का त्याग करे और आपकी अपनी लिस्ट जारी करवाने के लिए स्वयं प्रयास करे। जयपुर पधारे और अपने कैडर की लिस्ट जारी करवाने के लिए मंत्री जी व अधिकारियो से मुलाकात कर उचित दबाव बनाये।


दिनांक 06/02/2015 :- भर्ती हेतु किये जा रहे कार्य।

1. नर्स ग्रेड-2 की वरिष्ठता सूचि जारी करना। - नर्स ग्रेड 2 की वरिष्ठता सूचि जारी कर नर्स ग्रेड 2 के पद रिक्त किये जा रहे हैं। इन रिक्त पदों को भर्ती पूरी कर पुनः भरा जाएगा।

2. राजस्थान राज्य सेवा अधिनस्थ बोर्ड से अनापत्ति प्रमाण पत्र लेना।- अतिरिक्त निदेशक (प्रशासन) दिनेश जांगिड जी ने राज्य सेवा अधिनस्थ बोर्ड से अनापत्ति प्रमाण पत्र ले लिया हैं जिस से भर्ती को संभावित कानूनी अडचनो से बचाया जा सके।

3. बोनस अंको के शेष रहे दावेदारो का वेरिफिकेशन -अतिरिक्त निदेशक (प्रशासन) दिनेश जांगिड जी ने उच्च न्यायालय के आदेशो की क्रियांवियती करते हुए 108 व प्लेसमेंट एजेंसी के माध्यम से लगे उन उम्मीदवारों के वेरिफिकेशन का प्रोसेस शुरू कर दिया हैं। इन उम्मीदवारों की पी एफ डिटेल व 108 के उम्मीदवारों को प्रत्येक एम्बुलेंस की गाडी संख्या पर कार्यरत उम्मीदवारों के कार्यकाल के अनुसार वेरीफाई किया जाएगा तथा इसमें अनियमितता पाए जाने पर सम्बंधित अधिकारी को दोषी समझ जायेगा।
इनका वेरिफिकेशन समाप्त होने पर अंतिम प्राप्त आंकड़ो का समावेश कर नयी मेरिट लिस्ट बनाई जाएगी।
इस प्रकार बोनस अंको के बटवारे को लेकर चल रही कानूनी लड़ाई समाप्त होगी व लिस्ट जारी कने में आ रही कानूनी बाधा समाप्त होगी।

4. वित्त विभाग की अड़चन दूर करना - वित्त विभाग ने अपने पत्र द्वारा सरकार/विभाग को इस भर्ती द्वारा 1400 करोड़ के अतिरिक्त भार के सम्बन्ध में सुचना दी गई थी इसके साथ विभाग/ सरकार को पदों की संख्या में कटौती करने या पदों को संविदा/व्यक्तिगत अनुबंध पर ही बनाये रखने या विभाग/सरकार को स्वविवेक के आधार पर भर्ती करने की सिफारिश भी की गई थी। 
जिसके निस्तारण स्वरुप अतिरिक्त निदेशक (प्रशासन) दिनेश जांगिड जी ने वित्त विभाग को जो जवाब भेजा जा चूका हैं उसमे यह भार 1400 करोड़ के स्थान पर 611 करोड़ या उस से भी कम 496 करोड़ तक किया जा सकता हैं। इसके अतिरिक्त यह वित्त भार प्रथम दो वर्षो (परिवीक्षा काल) के लिए मात्र 96 करोड़ ही रहना बताया गया हैं। अतिरिक्त निदेशक (प्रशासन) दिनेश जांगिड जी के अनुसार उनके इस जवाब के बाद जल्द ही वित्त विभाग द्वारा इस भर्ती को पूरा करने के लिए एक सकारात्मक रिपोर्ट करेगा जिस से इस भर्ती को जल्द ही पूरा किया जा सकेगा।

5. भर्ती नियमो में संशोधन - माननीय उच्च न्यायालय, जोधपुर के आदेश को प्रभावी करने के लिए भर्ती नियमो में संशोधन कर दिया गया हैं। जिसके अनुसार बोनस अंको की गणना 10/20/30 के स्थान पर 05/10/15 अंको द्वारा किया जायेगा इस प्रकार बोनस अंको पर चल रही कानूनी अड़चन को समाप्त कर दिया गया हैं।

6. भर्ती का रिजल्ट घोषित करवाने हेतु टीम बनायीं गयी - इस भर्ती के निस्तारण हेतु वेरिफिकेशन से लेकर लिस्ट जारी करने तक के कार्य के लिए 5 महानुभावो की एक सयुक्त यें बनाई गयी है जिसमे 3 अधिकारी आर ए एस स्तर के होंगे। 
इस टीम में स्वयं अतिरिक्त निदेशक (प्रशासन) दिनेश जांगिड जी व डिप्टी सेक्रेटरी जी ए एन एम व नर्स ग्रेड 2 की भर्ती प्रक्रिया का निष्पादन करेंगे।

भर्ती हेतु कई प्रोसेस समानान्तर चलाये जा रहे हैं यह एक अच्छी बात हैं परन्तु फिर भी सरकार के लिए इस भर्ती के निस्तारण के लिए नियत सकारात्मक होना ही एक मात्र अनिवार्य आवश्यकता हैं। यदि स्वास्थ्य मंत्री जी व सरकार चाहे तो इस भर्ती को पूरा होने से कोई नहीं रोक सकता। इसके अतिरिक्त यूनियन को अपने प्रयास जारी रखने होंगे व जयपुर तक नहीं आने वाले लोगो से निवेदन हैं की वे जयपुर तक आकर संघर्स को प्रभावी बनाये।

ए एन एम के लिए विशेष - इस समय जबकि सभी कैडर इस भर्ती के निस्तारण के लिए व्यक्तिगत व सामूहिक प्रयासों में जुटे हुए हैं आपके कैडर की जयपुर में शुन्य की संख्या में उपस्थिति बड़ी शर्मनाक हैं। किसी और के लिए नहीं पर आपकी अपनी नौकरी के लिए तो आपको संगठित होकर प्रयास करने ही चाहिए। Believe in the GOD so believes in you. ईश्वर भी सिर्फ उन लोगो की ही मदद करता हैं जो स्वयं अपनी मदद करते हैं तो आपको किसी और व्यक्ति से या भाग्य से तो बिलकुल भी उम्मीद नहीं करनी चाहिए। अपनी मांग रखने के लिए आपको स्वयं आहे आना होगा। अगली बार जब जयपुर जयपुर आने का प्रोग्राम बने तो आप भी औए और अपनी भर्ती के निस्तारण के लिए अधिकारियो/सरकार पर दबाव बनाये।


दिनांक 05/02/2015 04/02/2015 की मीटिंग :-
कल की मेहनत रंग लायी। अब हमे और भी अधिक हौसले और सतर्कता से निरन्तर मंत्री जी से और अधिकारिओ से मिलकर भर्ती जल्द से जल्द पूर्ण करने का दवाब बनाये रखना हैं। कल जो भी भाई लोग आये उनके हम बहुत आभारी हैं। सबसे अधिक आभारी माणिक जी के हैं। जिन्होंने अपना कीमती समय निकाल कर सारे दिन हमारे साथ रहे। 
हौसला रखो हम सभी मिलकर जल्द ही भर्ती को पूर्ण करने की कोशिस करेगे और सफल भी होंगे
अब समय आ गया हँ की हम सब अफवाहों पर ध्यान न देकर जमीनी हकीकत को जानकर उसके अनुसार ही काम करें
मंत्री जी के स्वास्थ्य लाभ होते ही हम पुनः मंत्री जी से मिलेंगे।अधिकारिओ से दैनिक मुलाकात जारी रहेगी
इस आदेश का अर्थ हँ की जितने भी अनुभव प्रमाण पत्र जारी किये गए हँ एवम् जिस भी अधिकारी ने जारी किये हँ उनको दिये गए दिनांक को सभी अनुभव प्रमाण पत्र स्वास्थ्य भवन मे add director sir को जमा कराने हँ अगर कोई भी फ़र्ज़ी प्रमाण पत्र जारी हुआ तो उसकी जिम्मेदारी जारी करने वाले अधिकारी की होगी

दिनांक 01/02/2015 :                                         भर्ती पर खतरा : संघर्ष का आवहान 
 
हमारी भर्ती पर मंडराते खतरे को समझने और इसके निराकरण हेतु संघर्ष का सूत्रपात अति आवश्यक हो चुका हैं l दिनांक 04 फरवरी को यूनियन द्वारा स्वास्थ्य मन्त्री जी एवं भर्ती से सम्बंधित अधिकारियो से मिल कर इस भर्ती पर मंडराते खतरे एवं इसके समाधान को समझने का प्रयास किया जाएगा l
समस्या के निराकरण के लिए यदि उचित हुआ तो संघर्ष को पूर्ण स्वरुप भी दिया जा सकता हैं परन्तु उस से पहले हमारे लिए अपनी शक्ति का आंकलन एवं संचय करना अनिवार्य होगा l
हमारे पास फ़ोन पर व इन्टरनेट पर बातें करने वाले लोगो की एक विशाल फोज़ हैं परन्तु जैसे ही संघर्ष करने के लिए जयपुर आने की बात आती हैं वैसे ही यह सभी बातूनी लोग एक दम से स्वर्गवासी हो जाते हैं l लोगो को सिर्फ भर्ती से सम्बंधित खबरे ही चाहिए परन्तु संघर्ष में सशरीर (ऑनलाइन/बातें नहीं) शामिल होने की बात आती हैं सभी लोग एक दम से निर्जीव बन जाते हैं l 
सलाह देना या भर्ती ना होने का ठीकरा सरकार या यूनियन के ऊपर फोड़ना आसान हैं परन्तु संघर्ष में भाग लेना ही असली चुनोती होती हैं l

यदि चिकित्सको की हर मांग सरकार द्वारा पूरी की जाती हैं और हमारी मांगो को टाल दिया जाता हैं तो उसके सिर्फ कुछ कारण होते हैं चिकित्सको और हमारे बिच एक फर्क हैं और उसी फर्क की वजह से -

● वो अपने विध्यार्थी जीवन में अपना अधिक समय अध्यन में व्यतीत करते थे जबकि हम खेलने कूदने या फिर घुमने फिरने में l

● वो चिकित्सक बनने के लिए संघर्ष करते थे और हम उधम पट्टी l

● वो चिकित्सक बनने की उम्मीद करते थे और हम उम्मीद छोड़ कर कोई आसान रास्ता अपनाते थे l

● जब इन प्रबुधजनो को सरकार से कोई मांग मनवानी होती हैं तो यह एक हो जाते हैं और संघर्ष करते हैं परन्तु जब हमें सरकार से कोई मांग मनवानी होती हैं तो हम सिर्फ कुछ लोगो पर ही संघर्ष का पूरा भार ढोल देते हैं और स्वयं अपने घर पर बैठ कर मांग पूरी होने की प्रतीक्षा करते हैं l

यह फर्क हैं मेहनत और इच्छाशक्ति का l   इसलिए इनके बच्चे अच्छी शिक्षा पाते हैं अच्छा खाते हैं और अच्छी परवरिश पाते हैं और हम लोग देश की गन्दी राजनीति और व्यवस्था पर दोषारोपण कर के अपने परिवार को अच्छी सुविधाओ से वंचित रखते हैं l  

हमारे बिच में ऐसे लोग बहुतायत में हैं जो कभी संघर्ष में भाग लेने जयपुर नहीं आयेगे परन्तु यूनियन से स्ट्राइक की घोषणा करने की जिद करते रहते हैं जब आप लोग जयपुर ही नहीं आयेंगे तो संघर्ष कौन करेगा .......... धरना स्थल का खाली टेन्ट l

जिन्दा हो तो जिन्दा दिखो .......... मुर्दा क्यों नज़र आते हो l अपने घरो में या अपने जिले में बैठे रहने से संघर्ष नहीं होगा l      


दिनांक 28/01/2015 -                                              भर्ती प्रक्रिया की प्रगति की समीक्षा बैठक।  

आज दिनांक 28/01/2015 को स्वास्थ्य मन्त्री राजेन्द्र सिंह राठौर जी ने भर्ती प्रक्रिया में हुई प्रगति की समीक्षा हेतु एक बैठक का आयोजन किया।
इस समीक्षा बैठक में स्वास्थ्य मन्त्री जी के अतिरिक्त प्रमुख स्वास्थ्य सचिव मुकेश शर्मा जी व अति. निदेशक (प्रशा.) दिनेश जांगिड जी सहित भर्ती से जुड़े सभी अधिकारी एवं कर्मचारी थे।

अब यूनियन को 1-2 दिन में मन्त्री जी व अन्य अधिकारियो से मिल कर निम्न बिन्दुओ पर चर्चा की जानी चाहिए।-
● एस एल पी वापस होने के लगभग एक माह बीत जाने के बाद भी अभी तक कोई जमीनी कार्यवाही क्यों नहीं की गयी।
● भर्ती पूरी करने का नाम लेकर बड़े जोर शोर से निर्वाचन आयोग से आचार संहिता के दौरान भर्ती प्रक्रिया जारी रखने की परमिशन ली गयी और उसके बाद चिकित्सको व दन्त चिकित्सको की भर्ती को पूरा कर दिया गया। उनके रिजल्ट जारी किये, आप्शन फार्म भरवाए, आपत्तिया दर्ज करवाने का समय दिया गया परन्तु बहु प्रतीक्षित नर्सेज भर्ती की कोई प्रक्रिया नहीं की गयी।
● हमारी भर्ती पूरी करने का जो कार्य जोर शोर से चलना बताया जा रहा था उसके परिणाम स्वरुप कल परमानेंट कर्मचारियों नर्स ग्रेड द्रितीय की अंतिम वरिष्ठता सूचि का प्रकाशन किया गया और हमारी भर्ती प्रक्रिया में नवम्बर 2013 के बाद का कोई प्रोसेस नहीं किया गया।
● हमारी भर्ती प्रक्रिया का अगला चरण एक माह पहले ही निश्चित किया जा चूका हैं परन्तु उसकी क्रियन्वियति क्यों नहीं की जा रही हैं।
● ए एन एम की लिस्ट जारी की जा सकती हैं तो उसे किस आधार पर रोक रखा हैं वैसे तो ऐसे आलसी और निकम्मे कैडर की लिस्ट तो वैसे भी भगवान भरोसे ही आएगी। पूरे वर्ष 2014 व आज दिनांक तक एक भी ए एन एम ने जयपुर जा कर किसी भी अधिकारी से लिस्ट जारी करने की बात तक नहीं की। इसके लिए कोटा जिले की दो ए एन एम प्रीति चतुर्वेदी (9461515899) एवं आशा शर्मा (9509034014) प्रयास तो कर रही हैं पर इनकी टांग खीचने वालो की भी कोई कमी नहीं हैं।

अब तो यही हो सकता हैं की आज कल में यूनियन मंत्री जी व अन्य अधिकारियो से मिल कर 108 के वेरिफिकेशन व लिस्ट जारी करवाने के सम्बन्ध में किसी प्रकार के प्रोसेस को शुरू करवाए हमारी भर्ती का नाम ले ले कर सरकार अपने गैर जरूरी कार्यो का निस्तारण करने में जुटी हुई हैं और हम मुर्ख बन रहे हैं।

ए एन एम कैडर एक जुट हो कर अपनी लिस्ट जारी करवाने के लिए स्वयं कोई प्रयास करे वरना भगवान भरोसे तो पूरा देश ही चल रहा हैं।


दिनांक 11/01/2015 :                                               संकट बरकरार : भर्ती पर असमंजस 

दिनांक 6 जनवरी से अभी तक भर्ती पर असमंजस की स्थिति बनी हुई हैंl यह भी सम्भव हैं की भर्ती फिर से कोर्ट में चली जाएl सरकार द्वारा भर्ती पूरी करने के लिए जिस प्रकार की प्रक्रिया अपनाई जा रही हैं उस से इस बात की बहुत सम्भावनाये हैं की भर्ती फिर से कोर्ट में चली जाए व अटक जाएl

अधिकारियो के बयान के अनुसार स्वास्थ्य मन्त्री राजेन्द्र राठौर जी इस भर्ती को तुरंत निस्तारित करना चाहते हैं परन्तु अधिकारीगण कुछ कानूनी समस्याओ के कारण या इच्छाशक्ति के कमजोर होने के कारण इस भर्ती को कानूनी पेच में फसा सकते हैंl वजह जो कोई भी हो हमें परिस्थितियों के अनुसार अपनी रणनीति को ढालना होगा और कुछ नए पहलुओ को अपनी रणनीति में शामिल करना होगाl 

- इस भर्ती की समस्त समस्याए नर्स ग्रेड - ll व अन्य कैडर से जुडी हुयी हैं परन्तु ए एन एम की भर्ती में इस प्रकार की कोई समस्या नहीं हैंl फिर इतने समय से ए एन एम की भर्ती क्यों अटकी हुयी हैंl ए एन एम की लिस्ट जारी नहीं हो पाने का एक मात्र कारण सम्पूर्ण ए एम एम कैडर की इस भर्ती के प्रति उदासीनता ही हैं इसके अतिरिक्त और कोई बाधा नहीं हैंl

- ए एन एम कैडर को यूनियन के साथ संगठित हो कर अपनी लिस्ट जारी करने की मांग करनी चाहिएl ऐसे में यदि ए एन एम की लिस्ट जारी हो जाती हैं तो सरकार की मंशा को सकारात्मक लिया जा सकता हैं और भर्ती का सिलसिला भी शुरू हो सकता हैं परन्तु यदि ऐसा नहीं होता हैं तो यह मान लिया जाना चाहिए सम्पूर्ण सरकारी तंत्र इस भर्ती को पूरा करने के नाम पर सिर्फ आश्वाशन ही दे रहा हैंl

- ए एन एम को संगठित करने से भर्ती पूरी करने के लिए सरकार पर भारी दबाव तो बनेगा की साथ ही साथ यदि सरकार की भर्ती पूरी करने की कोई मंशा होगी तो सम्पूर्ण नर्सेज व फार्मासिस्ट जैसे कैडर की भर्ती प्रक्रिया भी सम्पूर्णता की और अग्रसर होगीl

इसी प्रायोजन की सिद्धि हेतु आशा शर्मा (ए एन एम) ने कोटा जिले की कुछ ए एन एम को संगठित करने का छोटा सा प्रयास किया हैं अब देखना यह हैं की इनका यह प्रयास सफल होता हैं या फिर से ए एन एम कैडर आलस्य की चादर ओड लेगाl

पता नहीं नारी शक्ति इतनी शक्तिहीन क्यों हो जाती हैं ?????               


दिनांक 07/01/2014 :                                         6 जनवरी : संघर्ष एवं असमंजस भरा दिन l 

कल दिनांक 6 जनवरी को देवाराम चौधरी एवं अभिनीत भारद्वाज जी के नेतृत्व में सीताराम चौधरी, मूल शंकर जी , राघव प्रताप जी, डालुराम जी, ब्रहम प्रकाश जी, सुनील दाभाई, चन्द्र शेखर जी, विष्णु शर्मा, जोगेंद्र जी, मोहन जी, प्रमोद मीणा सहित कई संविदा नर्सेज एवं रमाकांत शर्मा, दीपक मीणा सहित कई मेडिकल कॉलेज के संविदा नर्सेज तथा सचिन गुप्ता सहित कई फ्रेशर जयपुर में पधारे व भर्ती हेतु जारी संघर्ष में सशरीर (ना ऑनलाइन और ना ही फ़ोन पर) शामिल हुए l

चिकित्सा मन्त्री श्री राजेंद्र सिंह जी राठौर - सुबह जल्दी ही हमारे प्रतिनिधि दल ने चिकित्सा मंत्री जी के आवास पर उनसे मुलाकात की l उन्हें नववर्ष की बधाई दी व साथ ही SLP वापस लिए जाने पर उनका आभार व्यक्त किया l  जिसके बाद हमारे प्रतिनिधि दल ने उनसे जल्द ही लिस्ट जारी करवाने का आग्रह किया l  मंत्री जी ने आभार स्वीकार करते हुए हमारे प्रतिनिधि दल को जल्द ही लिस्ट जारी किये जाने हेतु आश्वस्त किया और कहा की आप से ज्यादा मुझे इस भर्ती को पूरा करने की फ़िक्र हैं l उन्हें जल्दी ही धोलपुर के लिए रवाना होना था इसलिए वो वह से निकल गए ठीक उसी समय हमारे प्रतिनिधि दल ने आभार स्वरुप वहा राजेन्द्र राठौर जी के समर्थन में जम कर नारे लगाये l

इसके तुरंत बाद ही जानकारी मिली की राजेंद्र राठौर साहब ने धोलपुर जाना निरस्त कर दिया व चिकित्सा विभाग की भर्ती से जुड़े तमाम अधिकारियो व कर्मचारियों की एक आपात बैठक का आयोजन किया l  

अति. निदेशक (प्रशासन) दिनेश जांगिड जी - इसके बाद हमारे प्रतिनिधि दल ने अति. निदेशक (प्रशा.) दिनेश जांगिड जी से मुलाक़ात की l  दिनेश जी ने आपात बैठक की जानकारी देते हुए कहा की उन्हें तुरन्त ही मीटिंग में बुलाया गया हैं इसलिए उन्होंने शाम को मिलने का समय दिया और वो वह से मीटिंग के लिए निकल गए l

शाम को पुनः उनसे मिलने पर उन्होंने जानकारी दी की भर्ती प्रक्रिया अपने अंतिम चरण में हैं और एक माह में आपकी लिस्ट जारी कर दी जाएगी l

परियोजना निदेशक (एन आर एच एम ) वर्मा जी - परियोजना निदेशक महोदय वर्मा जी ने हाल ही में परियोजना निदेशक का चार्ज संभाला हैं ऐसे में यूनियन के प्रतिनिधि दल ने उनसे भी मुलाकात की व उन्हें नव वर्ष की हार्दिक बधाई दी जिसके पश्चात वर्मा जी ने भी प्रतिनिधि दल को SLP वापस लिए जाने की बधाई की l इसके पश्चात वही परियोजना निदेशक जी के चैम्बर में में ऐसा कुछ हुआ जिसके बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त कर आपको शाम को सूचित कर दिया जाएगा l वह हमारे प्रतिनिधि दल ने एनआरएचएम कर्मचारियों व इस भर्ती की खिलाफत में लगे कुछ स्वार्थि अधिकारियों की हरकतों को महसूस किया l आज शाम को आप लोगो को उनका परिचय व आज दिनांक तक उनके द्वारा एनआरएचएम नर्सेज के विरोध स्वरुप किये गए कृत्यों का उल्लेख किया जाएगा l

स्टेट प्रोग्राम मेनेजर डॉ. अनुराधा असवाल - एसपीएम मैडम जी से मुलाक़ात होने पर नव वर्ष की बधाई व SLP वापस लिए जाने के सम्बन्ध में ओपचारिकता के पश्चात उनसे एनआरएचएम कर्मचारियों से जुड़े कुछ पहलुओ पर जानकारी ली गई जिसके पश्चात फिर से उन्ही स्वार्थी एनआरएचएम अधिकारियो का नाम सामने आया जो हर बार इस भर्ती व एनआरएचएम कर्मचारियों को मिलने वाले हर फायदे पर कुण्डली मार कर बैठ जाते हैं l इन तत्वों की हरकतों के साथ इनका परिचय आज शाम को सार्वजानिक कर दिया जायेगा l

प्रमुख स्वास्थ्य सचिव मुकेश शर्मा जी - मुकेश शर्मा जी के लिए इतना परिचय देना ही काफी होगा की इनकी वजह से ही चहूतरफा विरोध के बाद भी इन्होने पशुधन सहायको की भर्ती लिस्ट जारी करवा दी थी l  पूर्व के सामान ही इस बार भी वे इस बार हमारी लिस्ट जारी करने के लिए उत्सुक हैं परन्तु कुछ स्वार्थि तत्वों व नियमो के कारण वे इस बार मजबूर हैं व इन्होने भी लिस्ट जारी होने में एक माह का समय लगने सम्बन्धी आशंकाए जताई l 

हमारी भर्ती को एक कच्चे धागे से खेचा जा रहा हैं ...... हमारी भर्ती पूरी ऊपर भी आ सकती हैं और निचे भी गिर सकती हैं l इसलिए यदि आप लोग लिस्ट जारी होने को



go to top